ads

जब मैच के बीच में सचिन ने सहवाग को दी थी धमकी...इस बार सिक्सर मारा तो बल्ले से पीटूंगा

नई दिल्ली। क्रिकेट मैच में हर किसी को यह इंतजार रहता है कि उसका बेस्ट प्लेयर कब सिक्सर लगाए। इसके साथ टीम के साथी खिलाड़ी भी बैट्समैन को चौके-छक्के मारने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। लेकिन क्या आपने ऐसा कभी देखा या सुना है, जब उसके ही सहयोगी खिलाड़ी ने ही बैट्समैन को सिक्सर लगाने के लिए मना किया हो। यही नहीं उसने सिक्सर मारने पर बल्ले से ही पीटने की धमकी दे डाली हो। आज हम आपको एक ऐसा ही एक किस्सा बताएंगे जो भारतीय क्रिकेट टीम में मैच के दौरान ऐसी घटना घटी है।

आनंद महिंद्रा ने ऐसे पूरा किया मोहम्मद सिराज से किया वादा, घर भिजवाया ये महंगा गिफ्ट

सिक्सर मारने पर बल्ले से पीटने की धमकी दे डाली

दरअसल, यह घटना वीरेंद्र सहवाग ( Virender Sehwag ) के साथ उस समय घटी, जब क्रिकेट के भगवान पुकारे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ( Sachin Tendulkar ) ने उन्हें सिक्सर मारने पर बल्ले से पीटने की धमकी दे डाली। इस घटना का खुलासा खुद सहवाग ने ही एक बांग्ला शो में किया, जिसकी एंकरिंग सौरव गांगुली ( Sourav Ganguly ) कर रहे थे। इन दोनों खिलाडिय़ों के अलावा इस शो में वीवीएस लक्ष्मण, जहीर खान, हरभजन सिंह और रविचंद्रन अश्विन भी मौजूद थे। हुआ यूं कि शो को होस्ट कर रहे सौरव गांगुली ने सहवाग से कहा कि आप हमारे ऑडियंस को यह बताएं कि आपने मुल्तान में कैसे तिहरा शतक लगाया था। जिसमें 95 रन पर सिक्सर मारकर सेंचुरी, 195 पर सिक्सर मारकर डबल सेंचुरी और एक सिक्सर और लगाकर थर्ड सेंचुरी पूरी की। जबकि बॉलिंग कोई और नहीं, बल्कि सकलैन मुश्ताक कर रहे थे और मैदान में लॉंग ऑन, लॉंंग ऑफ, डीप मिडविकेट और डीप स्क्वायर लेग पर फील्डर खड़े थे। बावजूद आपने ऐसा खतरा मौल लिया क्यों? आपने सिंगल खेल कर तिहरा या दोहरा शतक क्यों पूरा नहीं किया?

49 रन पर कैच आउट किया तो गुस्साए बल्लेबाज ने फील्डर को बल्ले से पीटा, फील्डर की हालत नाजुक

सचिन ने बीच में रोक दिया का क्या मतलब?

इस सवाल का जवाब देते हुए सहवाग ने कहा कि अगर सिंगल लेता तो ओवर की छह गेंद खेलनी पड़ती। इन छह गेंदों में छह बार ही आउट होने की आशंका रहती। इसके विपरीत सिक्सर मारते ही एक बॉल पर छह रन पूरे हो जाते। इसके साथ ही जब आप 295 रनों पर खेल रहें हो तो आप में गजब का विश्वास रहता है और विकेट व बॉलर भी मालूम रहता है। कुछ ठहरते हुए सहवाग ने सोचते हुए कहा कि 100 से 120 रनों के स्कोर तक मैंने छह या सात सिक्सर लगाए थे। जिसके बाद सचिन ने मेरे सिक्सर रोक दिए। गांगुली ने सहवाग को बीच में रोकते हुए कहा कि सचिन ने बीच में रोक दिया का क्या मतलब? तब सहवाग ने कहा कि सचिन में मुझे बाला कि अगर इस बार तूने सिक्सर मारा तो मैं तुझे यहीं बल्ले से पीटूंगा।



Source Patrika : India's Leading Hindi News Portal
https://ift.tt/3rRZ9T5

Post a comment

0 Comments