ads

कोरोना से प्रभावित क्रिकेट बोर्ड्स की मदद करेगा ICC, बनाया 50 लाख डॉलर का फंड

नई दिल्ली। महामारी कोरोना वायरस ने पिछले 1 साल से दुनिया भर में अपना आतंक मचा रखा है। कोरोना के कारण लगाए गए लॉकडाउन के बाद सभी देशों को आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। लॉकडाउन के दौरान सभी काम चौपट हो गए। जिसके कारण आम लोगों के साथ-साथ कई बड़ी कंपनियों को भी काफी नुकसान हुआ है। कोरोना से खेल जगत भी अछूता नहीं रहा। कोविड-19 महामारी की वजह से कई क्रिकेट बोर्ड आर्थिक परेशानी से गुजर रहे हैं। जिसकी वजह से यह क्रिकेट बोर्ड्स मैच का आयोजन कराने में सक्षम नहीं है। इन क्रिकेट बोर्ड्स की मदद के लिए आईआईसी आगे आया है। आईसीसी ने उनकी मदद के लिए 50 लाख डॉलर का फंड स्थापित किया है।

 

यह भी पढ़ें : सचिन तेंदुलकर ने 15 साल की उम्र में बनाया था अपना पहला CV, जानिए सीवी की दिलचस्प बातें

अगले तीन साल तक उपलब्ध रहेगा फंड
कोविड-19 की वजह से दुनियाभर में कई देशों में क्रिकेट मैचों का आयोजन नहीं हो पा रहा है। इसकी मुख्य वजह है कि उन देशों के क्रिकेट बोर्ड के पास पैसे नहीं है। वहीं दूसरी और जहां क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है। वहां पर भी ज्यादा दर्शकों को अनुमति नहीं दी गई है। सबसे खास जिन देशों में क्रिकेट सीरीज को आयोजन हो रहा है, वे वहां काफी पैसे खर्च हो हो रहे है। मौजूदा माहौल को देखते हुए बायो-बबल और सुरक्षा को लेकर काफी खर्चीला साबित हो रहा है। इसलिए आईसीसी ने यह कदम उठाया है। बताया जा रहा है कि यह फंड अगले तीन साल तक उपलब्ध रहेगा।

यह भी पढ़ें : NZ vs BAN: ग्लेन फिलिप्स ने कैच के लिए हवा में लगाई छलांग, देखें वीडियो

नकदी की कमी से जूझ रहे है कई बोर्डों
आईसीसी के एक अधिकारी ने कहा कि आज के समय कई नकदी की कमी से जुझ रहे है। जिसके कारण उन्होंने महामारी की वजह से क्रिकेट की मेजबानी के लिए मजबूरी में मना करना पड़ रहा है। छोटे बोर्डों का कहना हे कि खिलाड़ियों के लिए चार्टर्ड विमानों की व्यवस्था, बायो-सिक्योर होटल की बुकिंग आदि कई ऐसे अतिरिक्त खर्चे हैं। इन खर्चां को उठाने में कई बोर्डों ने असमर्थता जताई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, किसी को भी खर्च के 50 फीसदी से ज्यादा मदद नहीं मिलेगी। सबसे खास बात बोर्ड को यह बताना होगा कि ये मदद उन्हें किस लिए चाहिए।


कोरोना के कारण कई टूर्नामेंट हुए रद्द
गौरतलब है कि कई क्रिकेट बोर्ड को ICC के आयोजित इवेंट्स जैसे द्विपक्षीय सीरीज, टेस्ट सीरीज, T20 वर्ल्ड कप से आमदनी होती है। लेकिन कोरोना के कारण पिछले एक साल से कई टूर्नामेंटों को रद्द करना पड़ा जिससे बोर्डों को काफी नुकसान हुआ है। मौजूद समय में कई छोटे बोर्डों के पास पयाप्त पैसे नहीं जिसके दम पर वे किसी भी क्रिकेट सीरीज का आयोजन करवा सकते है।



Source Patrika : India's Leading Hindi News Portal
https://ift.tt/3uePOpZ

Post a comment

0 Comments