ads

वनडे में 1000 रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर हैं अंजुम चोपड़ा, 17 साल की उम्र में किया था डेब्यू

अंजुम चोपड़ा भारत की फेमस पूर्व क्रिकेटर रही हैं और वह एक बेहतरीन कमेंटेटर भी हैं। अंजुम चोपड़ा आज अपना 44वां जन्मदिन मना रही हैं। 20 मई 1977 को जन्मी अंजुम ने भारतीय महिला क्रिकेट को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। इतना ही नहीं वनडे मैच में 1000 रन बनाने वाली अंजुम पहली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं। अंजुम ने एक आईएएस ऑफिसर से शादी की है। अंजुम के नाम कुछ रिकॉर्ड्स भी दर्ज हैंं और वह आज की महिला क्रिकेटरों और युवा लड़कियों के लिए एक प्रेरणा हैं। अंजुम को क्रिकेट का शौक बचपन से ही था। उस समय लड़कियों को क्रिकेट खेलने की आजादी नहीं थी। उस वक्त क्रिकेट को लड़कों का ही खेल माना जाता था। इसके बावजूद अंजुम ने मात्र 9 साल की उम्र में क्रिकेट ग्राउंड पर कदम रखा और इसके बाद फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

परिवार में कई खिलाड़ी
अंजुम ने छोटी उम्र में ही कई खेलों में हिस्सा लिया। स्कूल और कॉलेज के दौरान अंजुम ने एथलेटिक्स, बास्केटबॉल और स्विमिंग जैसे खेलों में हिस्सा लिया। अंजुम दिल्ली स्टेट बास्केटबॉल टीम की सदस्य भी रह चुकी हैं। अंजुम का परिवार खिलाड़ियों से भरा हुआ है। अंजुम के पिता कृष्ण बाल चोपड़ा एक फेमस गोल्फर हैं। वहीं उनकी मां पूनम चोपड़ा भी गुडइयर कार रैली जीत चुकी हैं। अंजुम के भाई निरवान चोपड़ा भी क्रिकेटर हैं।

यह भी पढ़ें— गिलबर्ट जेसॉप बर्थडे: 2 घंटे में दोहरा शतक, 40 मिनट में सेंचुरी, इनके आगे फेल हैं अच्छे-अच्छे बल्लेबाज

anjum2.png

17 साल की उम्र में खेला पहला वनडे इंटरनेशनल मैच
बता दें कि अंजुम ने मात्र 17 साल की उम्र में पहला इंटरनेशनल वनडे मैच खेला था। उन्होंने अपना डेब्यू मैच फरवरी 1995 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। अंजुम ने भारत के लिए अपनी दूसरी सीरीज में कमाल का प्रदर्शन किया। इसके लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज के खिताब से नवाजा गया। वर्ष 2002 में अंजुम को भारतीय महिला टीम का कप्तान बनाया गया। अंजुम की कप्तानी में भारत ने दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीती थी।

यह भी पढ़ें— कोरोना की वजह से इस साल भी नहीं खेला जाएगा एशिया कप, श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने की पुष्टि

एक हाथ से बॉलिंग-दूसरे से बैटिंग
अंजुम चोपड़ा पहली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं,जिन्होंने 100 वनडे मैच खेले। इसके साथ ही उन्होंने भारत के लिए चार वर्ल्ड कप खेले थे। अंजुम सिर्फ कमाल की बल्लेबाजी ही नहीं करतीं बल्कि शानदार गेंदबाजी भी करती हैं। वह बाएं हाथ से बल्लेबाज करती है और दाएं हाथ से मीडियम फास्ट बॉलिंग करती हैं। अंजुम चोपड़ा ने 12 टेस्ट, 127 वनडे और 18 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उन्होंने वनडे में एक सेंचुरी और 18 हाफ सेंचुरी लगाई है।



Source Patrika : India's Leading Hindi News Portal
https://ift.tt/3fyV7L4

Post a Comment

0 Comments