ads

कोहली की ओलचना पर जाफर के बाद माइकल वॉन पर बरसे पाकिस्तानी खिलाड़ी सलमान बट, सुनाई खरी-खोटी

नई दिल्ली। भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला 18 जून को होना है। लेकिन इससे पहले इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वॉन ने केन विलियमसन को विराट कोहली से बेहतर बताकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। कोहली को लेकर वॉन का दिया गया यह स्टेटमेंट उनके फैंस को हजम नहीं हो रहा है और लगातार वॉन को सोशल मीडिया पर खरी खोटी सुना रहे हैं। इतना हीं कोहली के पक्ष में कई दिग्गज क्रिकेटर्स भी उतर आए हैं। पहले भारतीय खिलाड़ी वसीम जाफर ने वॉन को खरी—खरी सुनाई तो अब पाकिस्तान खिलाड़ी सलमान बट ने वॉन को आड़े हाथों लिया है। ये जुबानी जंग दिन प्रतिदिन विकराल रूप लेती जा रही है।

यह भी पढ़ें—धनश्री वर्मा के बाद मुश्किल दौर से गुजर रहे युजवेंद्र चहल का छलका दर्द, शेयर किया इमोशनल पोस्ट

वॉन ने कोहली को लेकर दिया था यह बयान
दरअसल, वॉन ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि विलियमसन अगर भारतीय होते तो उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी माना जाता। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा लेकिन आपको यह कहने का अधिकारी नहीं है कि कोहली वर्ल्ड का बेस्ट क्रिकेटर है, क्योंकि इससे सोशल मीडिया में लोग बरस पड़ेंगे।

विलियमसन को बताया बेस्ट
वॉन ने कहा कि कुछ क्लिक और लाइक के लिए आप कहते हैं कि कोहली दुनिया का सबसे बेस्ट क्रिकेटर है। उन्होंने विलियमसन को कोहली की तुलना में बेस्ट बताया। लेकिन अब कोहली और विलियमसन की तुलना करने पर पाकिस्तान के क्रिकेटर सलमान बट ने वॉन जबरदस्त क्लास लगा दी।

वॉन को देखने होंगे आंकड़े
पाकिस्तान क्रिकेटर सलमान ने बट ने वॉन की क्लास लगाते हुए कहा कि उन्हें पहले क्रिकेट के आंकड़े देखने होंगे। कोहली को छोड़कर दुनिया कि किसी भी खिलाड़ी के नाम 70 इंटरनेशनल शतक नहीं हैं। इसके साथ ही कोहली लंबे समय से आईसीसी रैंकिंग में टॉप पर रहे हैं। गौरतलब है कि सलमान बट फिक्सिंग के आरोप में 10 साल का प्रतिबंध झेल चुके हैं।

यह भी पढ़ें—सचिन तेंदुलकर का छलका दर्द, बोले-'10-12 साल टेंशन में गुजारे, रात को सो भी नहीं पाता था'

salman_butt.jpg

वॉन से पूछे उन्होंने वनडे में एक भी शतक लगाया है क्या?
बट ने वॉन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह कोहली और विलियमसन के बीच तुलना करने वाले कौन होते हैं। भले वह इंग्लैंड के कप्तान रहे होंगे। लेकिन एक बल्लेबाज के रूप में उनका कोई खास योगदान नहीं रहा है। उन्होंने टेस्ट में अच्छी बल्लेबाजी की है, लेकिन उनसे कोई पूछकर देखें कि वनडे में एक भी शतक लगाया है क्या? बट की इस बात से वॉन चिढ़ गए और पाकिस्तनी क्रिकेट को फिक्सिंग की याद दिलाई ओर कहा कि काश 2010 में जब वह मैच फिक्स कर रहे थे तब भी उनके दिमाग में इस तरह के स्पष्ट विचार होते।



Source Patrika : India's Leading Hindi News Portal
https://ift.tt/2S0VyWB

Post a Comment

0 Comments