ads

जिम्बाव्वे के दिग्गज बल्लेबाज ब्रेंडन टेलर ने लिया सन्यास, 17 साल का रहा कॅरियर

जिम्बाव्वे क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज विकेटकीपर ब्रेंडन टेलर ने क्रिकेट से सन्यास लेने का ऐलान कर दिया है। ब्रेंडन टेलर ने सोशल मीडिया पर अपने सन्यास की घोषणा की। टेलर आज सोमवार को आयरलैंड के खिलाफ बेलफास्ट में होने वाले तीसरे वनडे में अपना आखिरी इंटरनेशनल मुकाबला खेलेंगे। टेलर ने वर्ष 2004 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। टेलर ने अपने कॅरियर में अबतक 34 टेस्ट, 204 वनडे और 45 टी20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं।

'गर्व है टीम का बैज पहना'
ब्रेंडन टेलर ने इंस्टाग्राम पर अपने सन्यास का ऐलान करते हुए लिखा,'मैं काफी भारी दिल के साथ यह ऐलान कर रहा हूं कि कल का मैच मेरे प्यारे देश के लिए मेरा आखिरी मैच है। 17 साल के करियर के दौरान मुझे काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिले। इससे मुझे काफी कुछ सीखने का भी मौका मिला। मैंने अपने आपको यही याद दिलाया कि मैं कितना भाग्यशाली हूं कि मुझे इस लेवल पर इतने लंबे समय तक खेलने का मौका मिला। मैंने काफी गर्व के साथ टीम का बैज पहना। मेरा लक्ष्य हमेशा ही टीम को बेहतर पोजिशन में ले जाने पर रहा। मैं खुश हूं कि मैं ऐसा करने में कामयाब रहा।'

यह भी पढ़ें— ऑस्ट्रेलिया की धमकी के बाद महिला क्रिकेट पर तालिबान ने लिया यू टर्न, अब दिया ऐसा बयान

टीम के साथियों और कोच को दिया धन्यवाद
ब्रेंडन टेलर ने अपनी टीम के साथियों, कोच और परिवार वालों को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने लिखा, 'मेरे टीम के साथियों और कोचों (अतीत और वर्तमान) को मैं तहे दिल से धन्यवाद देता हूं। घर पर मेरे दोस्तों के लिए, मेरे माता-पिता डेबी वेकफील्ड टेलर मेरी सास गेल मेयर रीडिंग्स और मेरे सबसे अच्छे साथी मेरे दो भाई हैं, जो ग्रांट टेलर और कीगन टेलर जो हर कदम पर मेरे साथ रहे हैं। बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं अपने अगले अध्याय की प्रतीक्षा कर रहा हूं। मैं आप सभी से बहुत प्यार करता हूं।'

यह भी पढ़ें—टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह के प्रदर्शन से प्रभावित हैं कपिल देव, प्रशंसा में कही ऐसी बात

टीम इंडिया के खिलाफ जड़ा था शतक
ब्रैंडन टेलर वर्ष 2011 से लेकर 2014 तक टीम के कप्तान भी रहे। इसके साथ ही वर्ष 2015 के वर्ल्ड कप में वह जिम्बाब्वे की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे। वर्ल्ड कप में उन्होंने टीम इंडिया के खिलाफ शतक भी जड़ा था। उस वक्त ब्रैंडन ने 138 रनों की पारी खेली थी। हालांकि भारत ने उस मैच में जिम्बाब्वे को 6 विकेट से हरा दिया था। टेलर ने वर्ष 2015 वर्ल्ड कप के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था, लेकिन कोल्पैक डील के तहत वो नाटिंघमशायर के लिए काउंटी क्रिकेट खेल रहे थे। उन्होंने जिम्बाब्वे के लिए 204 वनडे मैचों में 6677 रन बनाए हैं।



Source Patrika : India's Leading Hindi News Portal
https://ift.tt/2XceDbl

Post a Comment

0 Comments